This 4 "Krishna Seekh" Can Change Your Life Ultimately.

तू करता वही हैं, जो तू चाहता हैं, होता वही है जो मैं चाहता हूँ, तू वही कर जो मैं चाहता हूँ , फिर होगा वही, जो तू चाहता हैं।

भरोसा अगर खुद पर रखो तो ताकत बन जाती है, और दूसरों पर रखो तो कमज़ोरी बन जाती है, आप कब सही थे इसे कोई याद नही रखता है, लेकिन तुम कब गलत थे इसे सब लोग याद रखते है।

मनुष्य कितना भी गोरा क्यों ना हो परंतु उसकी परछाईं सदैव काली होती है, “मैं श्रेष्ठ हूँ”  यह आत्मविश्वास है, लेकिन “सिर्फ मैं ही श्रेष्ठ हूँ”  यह अहंकार है।

यदि आप किसी के साथ मित्रता नहीं कर सकते हैं, तो उसके साथ शत्रुता भी नहीं करना चाहिए।